नमस्कार दोस्तों, आज में आपको बताने वाला हु की loan कितने प्रकार के होते है। आप बैंक से कितने तरह के loan ले सकते है। एक Loan अनिवार्य रूप से एक विशिष्ट अवधि के भीतर वापसी के वादे के साथ उधर लिया गया धन है। lender एक निश्चित ब्याज दर तय करता है जो आपको उधर ली गई मूल राशि के साथ-साथ आपके द्वारा उधर लिए गए धन पर चुकानी होगी। भारत में आप विभिन्न प्रकार के लोन बैंक से ले सकते है। तो चलिए जानते है की loan कितने प्रकार के होते है।

बैंक में कितने प्रकार के लोन होते है?

भारत में विभिन्न प्रकार के लोन उपलब्ध है, और जिस उद्देश्य के लिए उनका उपयोग किया जाता है, उनके आधार पर उन्हें दो factor में बाटा गया है।

  • सुरक्षित लोन (Secured Loans)
  • असुरक्षित लोन (Unsecured Loans)

 

सुरक्षित लोन क्या है

जिन loan को संपार्श्विक की आवश्यकता होती है। यानि जब आप बैंक से लोन लेते है तो आपको लिए गए धन के लिए सुरक्षा के रूप में आपको एक सम्पति गिरवी रखनी होती है।यदि आप लोन नहीं चुका सकते है, तो बैंक आपकी प्रॉपर्टी को security के तोर पर रख सकता है। loan लेने के लिए security रखने पर बयाज दर भी कम होता है।

सुरक्षित लोन के प्रकार :

1. होम लोन

Home loan finance का एक सुरक्षित तरीका है जो आपको अपनी पसंद का घर खरीदने या बनाने के लिए धन देता है। भारत में उपलब्ध home loan के प्रकार निम्नलिखित है :

Apply for Hdfc Bank Home Loan 

  • Land Purchase Loan : अपने नए घर के लिए ज़मीन खरीदने के लिए।
  • Home Construction Loan : नया घर बनाने के लिए।
  • Home Loan balance transfer : अपने मौजूदा होम लोन के बैलेंस को कम ब्याज दर पर ट्रांसफर करे।

इसे भी पढ़े: कम समय के लिए तुरंत लोन कैसे मिलेगा ? 

ध्यान दे कि जब आप बैंक से लोन लेते है नए घर खरीदने के लिए तो आपको अपने सम्पति के मूल्य का कम से कम 10-20% का भुगतान करना होगा। बाकि financed होता है। loan amount आपके income पर निर्भर करती है।

2. गोल्ड लोन 

गोल्ड लोन secured loan है। जब आप बैंक से लोन लेने के लिए  security के तौर पर gold गिरवी रखते है उसे ही gold loan कहते है। ये एक तरह short term loan है, जो कम समय सिमा के लिए मिलता है। और ये लोन आपको low interest पे मिलता है।

3. Loans against property (LAP):

जब हम बैंक से लोन लेने के लिए अपनी खुदकी जमीन, मकान या कोई प्रॉपर्टी गिरवी रखकर जो लोन लेते है उसे ही हम loan against property (LAP) कहते है। LAP से मिली रकम का आप किसी भी जरुरत के लिए इस्तेमाल सकते है। इस loan पर आप पर कोई बंदिशे नहीं है कि आपको इस रकम का इस्तेमाल किसी एक चीज़ के लिए ही करना है।

4. Loans against fixed deposits:

Loan against FD secured loan है। इस लोन के लिए security की जरूरत नहीं होती है। इस लोन के आपका FD Accout होना चाहिए। लोन अमाउंट आपके FD मूल्य के 70-90% ही मिलता है। ये लोन आपके FD amount से अधिक नहीं होती है। जब तक आपकी FD रहेगी तब तक आपकी लोन की सीमा रहेगी।

5. Loans against insurance policies:

अगर अपने पांरपरिक जीवन बिमा प्लान लिया है तो आप उस पालिसी से भी लोन ले सकते है। ध्यान दे यह लोन आपको टर्म प्लान और यूलिप (ULIP) मिलेगा। केवल ट्रडिशनल लाइफ इंश्योरेंस प्लान (पांरपरिक जीवन बिमा प्लान) पर ही मिलेगा।

6. Loans against mutual funds and shares

ये लोन लेने के आपको अपने शेयर या म्यूच्यूअल फण्ड दस्तावेज बैंक को जमा करने होंगे, और बैंक आपको आपके पुरे डिपाजिट अमाउंट का एक काम अमाउंट लोन के रूप में दे देगा, मगर ध्यान रहे अगर आप उस लोन की इएमआई समय से जमा नहीं करते है तो बैंक आपके सटाके बेच कर अपना लोन अमाउंट चूका लेगा।

असुरक्षित लोन क्या है?

जिन loan को संपार्श्विक की आवश्यकता नहीं होती है। इस प्रकार के लोन में आपको security नहीं देनी होती है। ये लोन आपके credit score या आपका बैंक के साथ बढ़िया लेनदेन हो तो ये लोन आपको खुद बैंक ऑफर करती है। ये लोन आपको secured की तुलना अधिक ब्याज पे मिलता है।

असुरक्षित लोन के प्रकार

1. पर्सनल लोन

Personal लोन finance का एक असुरक्षित तरीका है। जो आपको अपने निजी जीवन में जैसे शादी, मेडिकल, ट्रेवल और आदि के लिए लोन उपलब्ध करता है। इस लोन में आपको कोई गारंटी/सिक्योरिटी देने या कुछ गिरवी रखने की कोई जरुरत नहीं है, ये लोन आपके बढ़िया क्रेडिट स्कोर पे उपलब्ध कराया जाता है। इस की अवधि सीमा आमतौर पर 12 से 60 महीने का होता है।

2. वाहन लोन

Vehicle loan unsecured लोन है। ये लोन आपको दो या चार पहियों वाहन लोन के रूप में दिया जाता है। जो आपको अपने सपनो की वाहन खरीदने में मदत करता है। ये लोन आपके बढ़िया क्रेडिट स्कोर पे उपलब्ध कराया जाता है।

3. एजुकेशन लोन (शिक्षा लोन)

Education लोन आपको उच्च शिक्षा के लिए बैंक उपलब्ध करता है। यह लोन आप लॉन्ग सयम के लिए ले सकते है, इसमें आपको इएम्आई पे करने के काफी ऑप्शन मिल जाते है, अगर अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद लोन को चुकाना चाहते है तो भी आप चूका सकते यार पढ़ाई के साथ साथ चुकाना चाहते है तो ये भी आसान हैं, ये निर्भर आप पर है की आप किस ऑप्शन का चयन करेंगे, ब्याज तो आपको पुरे टाइम पीरियड के लिए देंना होगा।

4. बिज़नेस लोन

बिज़नेस लोन में आपको आपके बिज़नेस शुरू करने और बिज़नेस की ग्रोथ के लिए बैंक लोन देता है, ये लोन लेने के लिए आपके बिज़नेस प्रूफ दस्तावेज होना जरुरी हैं। बिज़नेस लोन सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड दोनों में आता है। बिज़नेस लोन के निन्मलिखत प्रकार है :-

  • टर्म लोन 
  • वर्किंग कैपिटल लोन  
  • महिलाओं के लिए बिज़नेस लोन
  • मशीनरी लोन 
  • SME और MSME लोन 
  • स्टार्ट-उप लोन 
  • इनवॉइस फाइनेंसिंग 
  • इक्विपमेंट फाइनेंसिंग 
  • ओवरड्राफ्ट 
  • POS/मर्चेंट कॅश एडवांस 
  • ट्रेड क्रेडिट 
  • लेटर ऑफ़ क्रेडिट 
  • लोन्स अंडर GOVT.स्कीम्स (MUDRA,PMEGP,CGTMSE, Standup india, etc)

 

5. पब्लिक प्राइवेट फंड्स (PPF लोन)

अगर आपके पास PPF अकाउंट है तो आप अपने PPF खाते से भी लोन ले सकते है। आपको अपनी जमा राशि के 25% का ही लोन ले सकते है। ये लोन आपको तीसरे साल के शुरू से छठे साल के अंत के बिच में ही ले सकते है।

6. एग्रीकल्चर लोन:

ये लोन आपको अपनी जमीन पर खेती करने लिए बैंक उपलब्ध करता है। कृषि लोन सिक्योर्ड और अनसिक्योर्ड दोनों में आता है। यदि आप 1.60 लाख का लोन लेते है तो आपको बिना जमीन गिरवी रखे मिल जायेगा। यदि आप 1.60 लाख से ज्यादा का लोन लेते है तो आपको अपनी ज़मीन गिरवी रखने के साथ-साथ आपको ग्रांटर भी देना होगा।

उम्मीद है आपको हमारी दी गयी जानकारी से आपके बेहद काम आई होगी, अगर कोई सवाल हो तो निचे कमेंट करके जरूर पूछे।

इसे भी पढ़े:

Leave a Reply