भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने पुणे में स्थिर अपने रूपी सहकारी बैंक रुपी (RCB), की लाइसेंस की सिमा 3 महीने के लिए बढ़ाई।

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने 31 मई, 2021 तक, रूपी सहकारी बैंक (RCB), को अपने बैंकिंग लाइसेंस के तीन महीने के विस्तार की अनुमति दे दी है, और पिछले चार वर्षों में 53.19 करोड़ रुपये का कुल परिचालन लाभ, निदेशक मंडल के मुख्य प्रशासक सुधीर पंडित ने कहा।

31 जनवरी, 2021 तक बैंक की कुल जमा राशि 1,292.84 करोड़ थी। कुल अग्रिम 295.10 करोड़ रुपये थे। अधिकारियों ने कहा कि 31 जनवरी 2021 तक बैंक ने 19.93 करोड़ रुपये का परिचालन लाभ कमाया और 92,602 जमाकर्ताओं को 366.54 करोड़ रुपये का भुगतान किया।

बैंक ने डिफॉल्टर उधारकर्ताओं की संपत्तियों की कुर्की और उसी की सार्वजनिक नीलामी जैसे कदम उठाए हैं, वसूली के लिए डिफॉल्टर उधारकर्ताओं / गारंटरों के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दायर करना आदि। बैंक ने प्रभावी वसूली के लिए अपने डिफॉल्टर कर्जदारों / गारंटरों के नाम अन्य बैंकों को भी सूचित कर दिए हैं। पंडित ने कहा कि बैंक पिछले पांच वर्षों से परिचालन लाभ कमा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here